शहीद कर्नल विप्लव त्रिपाठी, पत्नी और बेटे के अंतिम विदाई पर उमड़ा जन सैलाब, सम्मान में रायगढ़ बंद

SHARE THE NEWS

रायपुर। मणिपुर में उग्रवादी हमले में शहीद हुए कर्नल विप्लव त्रिपाठी, उनकी पत्नी और बेटे को सोमवार को अंतिम विदाई दी जा रही है। तीनों के पार्थिव शरीर भारतीय वायु सेना के विशेष विमान से रायगढ़ लाए गए। सर्किट हाउस स्थित मुक्ति धाम में अंतिम संस्कार होगा। कर्नल की शहादत के सम्मान में पूरा शहर बंद है। श्रद्धांजलि देने के लिए जनप्रतिनिधियों, अफसरों समेत बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हैं।

छत्तीसगढ़ में रायगढ़ के रहने वाले वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के बड़े बेटे कमांडेंट विप्लव त्रिपाठी (41) सहित 5 जवान 13 नवंबर को मणिपुर में हुए उग्रवादी हमले में शहीद हो गए थे। असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी की पत्नी अनुजा शुक्ला (37) और बेटे अबीर त्रिपाठी (6) की भी इस हमले में मौत हो गई थी। कर्नल परिवार सहित आ रहे थे, इसी दौरान घात लगाए उग्रवादियों ने एम्बुस लगाकर कर उनकी गाड़ी को उड़ा दिया था।

शहीद व उनकी पत्नी-बेटे का पार्थिव शरीर घर पर लाया गया। घर के बाहर भारी भीड़ रही। भारत माता की जय और विप्लव अमर रहे के नारे लगने लगे I तीनों के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए घर से रामलीला मैदान लाया गया था।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने शहीद को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। सांसद रायगढ़ गोमती साय, विधायक रायगढ़ प्रकाश नायक, विधायक लैलूंगा चक्रधर सिदार, जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल, कलेक्टर भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा रायगढ़ शहर के हजारों लोगों ने एयरपोर्ट पर शहीद को श्रद्धांजलि दी।

रायगढ़ में शहीद कर्नल विप्लव त्रिपाठी की पार्थिव देह पर कर्नल विप्लव त्रिपाठी के पिता सुभाष त्रिपाठी के साथ उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

शहीद की अंतिम यात्रा
रायगढ़ पहुंचने के बाद दोपहर डेढ़ बजे तक पार्थिव देह किरोड़ीमल काॅलोनी स्थित उनके निवास पर रखी गई। दोपहर 2:15 बजे रामलीला मैदान में अंतिम दर्शन के लिए लाया गया। इस दौरान सेना के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इसके बाद दोपहर 3.15 बजे उनकी अंतिम यात्रा रामलीला मैदान से शुरू हुई। सक्तीगुड़ी चौक, स्टेशन चौक, गांधी चौक, सुभाष चौक होते हुए पुरानी हटरी गांजा चौक, चांदनी चौक होते हुए 4 बजे सर्किट हाउस स्थित मुक्तिधाम पहुंची।

गार्ड ऑफ ऑनर देने पहुंचे असम राइफल्स के जवान
सेना के असम राइफल्स के 5 सीनियर अफसर और 50 जवान मणिपुर से रायगढ़ पहुंचे थे, जिन्होंने उन्हें गार्ड ऑफ ऑर्नर दिया। इससे पहले रविवार को ये अफसर और जवान शहीद त्रिपाठी के माता-पिता और परिजनों से भी मुलाकात करने के लिए घर पहुंचे थे। इधर, विप्लव के पिता और माता से मिलने के लिए सांसद गोमती साय और विधायक प्रकाश नायक भी उनके घर पहुंचे हुए थे।

सम्मान में आज रायगढ़ शहर बंद
चैंबर आफ कॉमर्स के प्रदेश उपाध्यक्ष सुशील रामदास अग्रवाल ने बताया कि शहीद विप्लव त्रिपाठी की अंतिम यात्रा शहर से निकाली गई। इसे देखते हुए चैंबर ऑफ कॉमर्स ने व्यापारियों ने आज मार्केट बंद रखने का आह्वान किया। इस दौरान शहर के सिनेमा घरों और मल्टीप्लेक्स सुबह 12 बजे से दोपहर 3 बजे का शो भी बंद रखा गया हैI जिस रूट से यह अंतिम यात्रा निकाली गई वहां पर दोपहिया और चार पहिया वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाई गई थी , ताकि शव यात्रा में किसी भी प्रकार व्यवधान ना हो।

 788 Views,  6 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: