छत्तीसगढ़ सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे यही हमारा प्रयास : एजाज ढेबर

SHARE THE NEWS

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजना का लाभ हर वर्ग के लोगों को मिल रही हैं। गोधन न्याय योजना से लेकर पौनी पसारी और महतारी दुलार जैसी योजनाओं ने हर क्षेत्र के जनता के लिए सराहनीय काम किया। जिसके कारण हमारा प्रदेश का मॉडल पूरे देश के लिए एक मिशाल बना हुआ हैं।

अन्य राज्य के लोग इसे अब आइकॉन की तरह देख रहे हैं। गोधन न्याय योजना हो या फिर किसानों के लिए चलाई जा रही राजीव गांधी किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ सरकार ने हर वर्ग के लोगों के लिए काम किया। गौ माता को सही पहचान और सम्मान छत्तीसगढ़ सरकार ने दी है। राज्य 2 रुपए किलो से गोबर की खरीद कर रहा है, इससे आम जनता को फायदा मिल रहा है।

छत्तीसगढ़ में मात्र ढाई साल में बड़े बदलाव हुए हैं। कांग्रेस सरकार ने बीते ढाई सालों मे प्रदेश की जनता के लिए बेहतर काम किया हैं । कोरोना काल में जहां अन्य राज्य का हाल बेहाल था। वहीं हमारे राज्य मे भूपेश सरकार की बेहतरीन नीति के चलते लोगो को महामारी के दौर में ज्यादा दिक्कतों का सामना करना नही पड़ा। यह बातें रायपुर नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर ने निजी चैनल के कार्यक्रम के दौरान कही।

छत्तीसगढ़ सरकार की मजबूत नीति से हारा कोरोना
महापौर ढेबर ने ईश्वर से प्रार्थना करते हुए कहा कि तीसरी लहर ना आए, क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर में देश के विभिन्न इलाकों में बेहद खराब हालात देखने को मिले, लेकिन छत्तीसगढ़ और रायपुर की बात करें तो वहां हालात उतने गंभीर नहीं हुए।

मुझे खुशी है कि रायपुर के इंडोर स्टेडियम को अस्पताल का रूप दिया गया, जहां ऑक्सीजन, दवाईयां समेत सभी सुविधाएं दी गई। वहां से 70 फीसदी लोग ठीक होकर अपने घर लौटे। वहीं उन्होंने बताया कि तीसरी लहर के लिए भी तैयार हैं और अस्पताल में पांच हजार बेड और ऑक्सीजन का भी इंतजाम कर लिया गया है।

डेढ़ दशक से रुके विकास को ढ़ाई साल में गति मिली
महापौर ने कहा कि पिछले ढाई साल में जो काम हुआ है वैसा पिछले 15 सालों में वैसा काम रायपुर में नहीं हुआ है। आज रायपुर कहां से कहां पहुंच गया है। महापौर ने कहा कि हमारी सोच है कि हमारी योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे।

यह काम रायपुर नगर निगम और सरकार की भी कोशिश है। विकास के लिए शिक्षा और स्वास्थ्य सबसे अहम हैं। हमने दिल्ली में आकर यहां के स्कूलों के बारे में जाना। छत्तीसगढ़ में पहले बच्चों की संख्या सीमित होती थी लेकिन आज प्रदेश के स्कूलों की हालत बहुत बेहतर है। राज्य के सरकारी स्कूलों में बड़े लोग भी अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में भर्ती कराना चाहते हैं। वहां लैब, प्लेग्राउंड, लाइब्रेरी समेत सभी सुविधाएं मौजूद हैं।

तालाबों का जीर्णोद्धार कार्य
महापौर एजाज ढेबर ने कहा रायुपर मंदिरों और तालाबों के लिए प्रसिद्ध है, लेकिन पिछले 15 सालों में तालाबों को खत्म करके शॉपिंग कॉम्पलेक्स बन गए। अब हम फिर से तालाबों को नया जीवन दे रहे हैं। जैसे बूढ़ा तालाब जो हमारी धरोहर है, उसकी सफाई पिछली सरकार नहीं कर पाई और हमने उसे साफ कर दिखाया।

आज बूढ़ा तालाब में सबसे ज्यादा भीड़ होती है, जहां लोग घूमने आते हैं। ऐसे ही कई अन्य तालाब हैं, जिन्हें फिर से जीवित किया जा रहा ह। बूढ़ा तालाब के आसपास नेहरू नगर इलाके में पानी की समस्या होती थी, लेकिन जब से बूढ़ा तालाब का काम कराया गया है, तब से आसपास के इलाकों में पानी की समस्या नहीं हुई।

पर्यटक स्थलों का उत्थान
राम-वन-गमन पथ की प्रोजेक्ट पर बात करते हुए महापौर ने कहा कौशल्या माता का मंदिर छत्तीसगढ़ में है, लेकिन किसी की उस पर नजर नहीं थी। चाहे केंद्र की बात करें या फिर प्रदेश की। अब हमारी सरकार राम-वन-गमन पथ के विकास पर काम कर रही है, जिसके तहत कौशल्या माता मंदिर का निर्माण हुआ। वहां भगवान श्रीराम की मूर्ति की स्थापना कीI इसके अलावा सरगुजा से बस्तर तक जहाँ- जहाँ भगवान श्रीराम के वनवास के प्रमाण मिले है वहां-वहां पर्यटन स्थल का निर्माण किया जा रहा हैI

 436 Views,  2 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: