महापौर ढेबर के स्वच्छता जागरूकता की पहल का असर, आवासीय परिसरों में लोग करने लगे कचरे का स्वयं निपटारा

SHARE THE NEWS

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर द्वारा रायपुर को स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में पहले स्थान पर लाने के लिए किए जा रहे प्रयास का असर अब दिखाई देने लगा है। शहरवासी महापौर के स्वच्छता अभियान को गंभीरता से लेने लगे हैं। स्वच्छ भारत मिशन अभियान में स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के तहत आत्मनिर्भर वार्ड में नगर पालिक निगम के जोन क्रमांक 6 के शहीद चंद्रशेखर आजाद वार्ड क्रमांक 60 के तहत आने वाले शिवा रेसीडेंसी कचरे का निष्पादन व्यवस्थित रूप से किया जा रहा है।

यहां स्थित 180 मकानों के सभी रहवासियों द्वारा स्वयं अपने आवासीय परिसर से प्रतिदिन निकलने वाले लगभग 50 किलोग्राम कचरे का निष्पादन किया जा रहा है। निगम अपर आयुक्त सुनील चंद्रवंशी ने रेसीडेंसी परिसर पहुंचकर वहां के रहवासियों द्वारा प्रतिदिन स्वयं किये जाने वाले कचरा निष्पादन की प्रक्रियाओं का प्रत्यक्ष निरीक्षण किया गया।

अपर आयुक्त ने कंपोस्टिंग मशीन के माध्यम से कचरे का निष्पादन करने पर रेसीडेंसी के सभी रहवासियों की स्वच्छ परिसर के प्रति सकारात्मक सोच को सराहा एवं कार्य को अन्य लोगों के लिए प्रेरणा दायक बताया। रेसीडेंसी में प्रतिदिन सभी मकानों से सूखा एवं गीला कचरा लेकर उनका नियत स्थल पर जाकर पृथककीकरण किया जाता है। रेसीडेंसी द्वारा नियुक्त सुपरवाईजर युवराज साहू, सफाई मित्र संतोष तांडी, रामू बघेल द्वारा कंपोस्टिंग मशीन में गीले कचरे को खाद में परिवर्तित करने की प्रक्रिया की जाती है।

निवासियों ने बताया कि गीले कचरे से तैयार होने वाले खाद का सदुपयोग रेसीडेंसी परिसर में उद्यान को हरा-भरा रखने एवं घरों के गमलों में डालने किया जा रहा है । वहीं पृथक करने के पश्चात निकल रहा सूखा कचरा आवासीय परिसर के रहवासियों द्वारा परिसर में कार्यरत रेसीडेंसी द्वारा नियुक्त सफाई कर्मचारियों को बाजार में विक्रय कर प्रतिदिन उससे आय अर्जित करने दे दिया जाता है। अपर आयुक्त ने कार्य को सराहते हुए इसी प्रकार से अपने परिसर का सम्पूर्ण कचरा निष्पादन कर उसे स्वच्छ रखने का कार्य करने कहा गया। इस दौरान नगर निगम जोन 6 के अधिकारीगण भी उपस्थित थे।

 298 Views,  2 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: